आजादी के 75 साल में स्त्रियों की भागीदारी पर सवाल

आजादी के 75 साल में स्त्रियों की भागीदारी पर सवाल




        अम्बेडकर जयंती के उपलक्ष्य में स्थानीय वृंदावन हाल, सिविल लाइंस, रायपुर (छत्तीसगढ़) में डीएमए इंडिया ऑनलाइन यूट्यूब चैनल की ओर से आयोजित सेमिनार में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित हुए। इस सेमिनार के प्रथम सेशन में आजादी के 75 साल और महिलाओं की भागीदारी विषय पर जागरूक महिलाओं ने अपनी बात को रखा नंदा रामटेके अध्यक्षा आदर्श फाउंडेशन गुढ़ियारी रायपुर, विन्नी खुदशाह अध्यक्षा डीएमए इंडिया ऑनलाइन, नसीम बानो सामाजिक कार्यकर्ता, डॉ दीप्ति धुरंधर मनोवैज्ञानिक रंगकर्मी और सामाजिक कार्यकर्ता, सुरेखा जांगड़े संयोजक संयुक्त मोर्चा ने ओजस्वी पूर्ण अपना व्याख्यान दिया। इस कार्यक्रम का सफल संचालन जानी मानी रेडियो एंकर मंजूषा माटे ने किया।


        इस सेमिनार में दूसरा सेशन अंधविश्वास से मुक्ति ही गुलामी से मुक्ति का प्रथम सोपान है विषय पर आयोजित हुआ। जिसके प्रमुख वक्ता थे‌ डॉ क्रांति भूषण बनसोडे तर्कशील कार्यकर्ता, टिकेश कुमार साहू अध्यक्ष एंटी सुपर स्टेशन ऑर्गेनाइजेशन, देवलाल भारती को फाउंडर सोशल जस्टिस लीगल सेल, कैलाश बनवासी प्रसिद्ध कहानीकार, साहू रामलाल गुप्ता सामाजिक चिंतक, डॉ रमेश सुखदेवे संयोजक छत्तीसगढ़ तर्कशील परिषद और कार्यक्रम का सफल संचालन किया बहुजन चिंतक डॉक्टर नरेश कुमार साहू जी ने।
इस अवसर पर सुप्रसिद्ध लेखक संजीव खुदशाह की सद्य प्रकाशित पुस्तक "वास्तुशास्त्र की वास्तविकता" का विमोचन कार्यक्रम उल्लासपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुआ ।
कार्यक्रम में शहर के जाने-माने बुद्धिजीवी सामाजिक कार्यकर्ताओं लेखकों ने भाग लिया।

दूज कुमार भास्कर 
दलित मूव्हमेंट एसोसिएशन,
 रायपुर (छत्तीसगढ़) ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

We are waiting for your feedback.
ये सामग्री आपको कैसी लगी अपनी राय अवश्य देवे, धन्यवाद