Monday, June 29, 2009

DALIT LITERATURE PART - 1

                                 DALIT LITERATURE PART - 1

संत रविदास का तुलनात्मक अध्ययन 
उमेश कुमार सिंह  गुरू नानक देव और संत रविदास तुलनात्मक अध्ययन  ४००/-
स्वरूप चन्द बौद्ध  बौद्ध विरासत के पुरोधा गुरू रैदास  ७०/-
भद्रशील रावत  संत रैदास वाणी में बौद्ध चिंतन  ६०/-
एस.एस. गौतम  रविदास ने कल : ऐसा चाहू राज मैं  १०/-५०/-
महर्षि वाल्मीकि साहित्य
अमीचंद शर्मा/साधु  श्री वाल्मीकि प्रकाश  ३०/-,१००/- 
डॉ. मजंुला सहदेव  महर्षि वाल्मीकि एक समीक्षात्मक अध्ययन  १८४/-
संजीव खुदशाह  सफाई कामगार समुदाय  १५०/-
सं. मन्जुला सहदेव  महर्षि वाल्मीकि व्यक्तित्व एवं कृतित्व  ८०/-
डॉ. मन्जुला सहदेव  महर्षि वाल्मीकि के उपदेश  ३५/-
डॉ. गंगासहाय शर्मा  वाल्मीकि रामायण  ३००/-
सं. ज्ञॉ. मन्जुला सहदेव  वाल्मीकि रामायण अद्धितीय महाकाव्य  ३३५/-
रांगेय राघव  गोरखनाथ और उनका युग  ३००/-
इलयावुलूरि पाण्डुरंग राय  भारतीय साहित्य के निर्माता : वाल्मीकि  २५/-
अमृतलाल नागर  नाच्यौ बहुत गोपाल  २५०/-
गुरू गोरख नाथ और उनका नाथ सम्प्रदाय 
डॉ. सोलंकी  नाथ पंथ और निर्गुण संत काव्य  २५०/-
डॉ. पीताम्बरदत्त बड़खाल  गोरखबानी                   १५०/-
रांगेय राघव  गोरखनाथ और उनका युग  ३००/-
कबीर वाणी एवं जीवन दर्शन 
रामकिशोर  कबीर ग्रंथावली 'सटीक`  १६०/-
कन्हैयालाल चंचरीक  महात्मा कबीर : जीवन और दर्शन  ३५०/-
डॉ. तेज सिंह  सबद विवेकी कबीर  २२५/-
लाल चन्द दूहन जिज्ञासा  १००८ कबीर वाणी  ८०/-
लाल चन्द दूहन जिज्ञासा  कबीर वाणी अमृत संदेश  १२०/-
प्रकाशन विभाग  कबीर  ७५/-
डॉ. रमेश चंद मिश्र  संत कबीर : वाणी और विचार  १२०/-
कबीर : तुलनात्मक अध्ययन 
एड. कमलकांत सिंह  कबीर और ब्राह्मण  ४५/-
स. बलदेव वंशी  कबीर : एक पुनर्मूल्याकंन  १२०/-
स. बलदेव वंशी  पूरा कबीर   ८०/-,२००/-
डॉ. धर्मवीर की दृष्टि में रैदास और कबीर     
 गुरू रविदास                डॉ. धर्मवीर  ३०/-
कबीर के कुछ और आलोचक  डॉ. धर्मवीर  २००/-   
 कबीर. डॉ. हजारी प्रसाद द्विवेदी का प्रक्षिप्त चिन्तन डॉ. धर्मवीर  १२५/-   
सन्त रैदास का निर्वण सम्प्रदाय  डॉ. धर्मवीर  ६०/-, २००/-
 कबीर और रामानन्द किवन्तियाँ डॉ. धर्मवीर  २२५/-   
कबीर के आलोचक डॉ. धर्मवीर  १००/-
 कबीर बाज भी कपोल भी पपीहा भी डॉ. धर्मवीर  १५०/-   
सूत न कपास डॉ. धर्मवीर  १५०/-
सन्तों की वाणी
शमीम     पंचवाद सन्तों की वाणी में क्रांति चेतना  ३९५/-
स. काका साहेब कालेकर  हिन्दी के जनपद संत                   १००/-
विश्वनाथ धर्माजी शिगाडे  मराठी संत साहित्य में बौद्ध अवधारणाएँ    350/-
     
ज्योतिबा फूले व सावित्री बाई फूले 
सं. डॉ. विमल कीर्ति महात्मा ज्योतिबा फूले रचनावली (२ भाग) २५०/-,७९०/- 
डॉ. सरोज आगलावे ज्योतिबा फूले का सामाजिक दर्शन १२०/-,२५०/- 
डॉ. योगमाया महात्मा ज्योतिबा फूले दर्शन एवं चिंतन ८५/-
अनु जयप्रकाश कर्दम गुलामगिरी ६०/-
स. हरिनरके महात्मा फूले साहित्य व विचार ७८/-
मुरलीधर जगताप युगपुरूष महात्मा फूले ५५/-
महात्मा ज्योतिराव फूले महात्मा ज्योतिराव फूले समस्त साहित्य गुलामी भाग-१ ३५/-
सं. हरिनरके सार्वजनिक सत्य धर्म पुस्तक भाग-२ ३०/-
सं. हरिनरके किसान का कोड़ा भाग-३ ५२/-
सं. हरिनरके तृतीय रत्न धर्म एवं अन्य स्फुट रचनायें भाग-४ ७०/-
रजनी तिलक सावित्री बाई फूले ३०/-
डॉ. मु. न. शहा भारतीय समाज क्रांति के जनक : ज्योतिबा फूले ३०/-,९५/-